1. होम
  2. >
  3. Infocus Detail
  4. >
  5. डायबिटीज़

Diabetes and Your Personality by Famhealth

डायबिटीज़ और आपका व्यक्तित्व

अमेरिका के वेस्टमिंस्टर के एक स्कूल द्वारा 3500 मरीज़ों पर किए गए एक शोध ने निष्कर्ष निकाला कि डायबिटीज़ के मैनेजमेंट में दो प्रमुख व्यक्तित्व विशेषताएँ हैं:

1. इंटरैक्टिव व्यक्तित्व

2. स्वतंत्र व्यक्तित्व

इंटरएक्टिव व्यक्तित्व प्रकार में ऐसे मरीज़ शामिल हैं जो अपने मुद्दों पर चर्चा करने में अन्य लोगों के साथ मुक्त रूप से बातचीत करते हैं और अपनी अवस्था को मैनेज करने में परिवार और दोस्तों की सहजतापूर्वक मदद लेते हैं।

स्वतंत्र व्यक्तित्व प्रकार, अपनी स्वयं की जीवनशैली और अवस्था को मैनेज करने में आत्म-निर्भर और स्वाधीन होने के एक प्रबल लक्षण द्वारा चिह्नित होता है।

इस शोध का परिणाम यह निकला कि 'इंटरएक्टिव’ व्यक्तित्व वाले लोग अपने डायबिटीज़ के मैनेजमेंट में अधिक सफल पाए गए और उनकी जीवन अवधि अधिक थी।

'आप आज कैसा महसूस करते हैं' के साथ डायबिटीज़ मैनेजमेंट का को-रिलेशन (सहसंबंध)

जब डायबिटीज़ मैनेजमेंट की बात आती है तो सबसे उपेक्षित क्षेत्रों में से एक है मन की भावनात्मक स्थिति। इसका एक प्रबल और सीधा प्रभाव इस पर पड़ सकता है कि डायबिटीज़ को मैनेज करने में कोई कितना सफलतापूर्वक सक्षम है। इसलिए, आपको विशेषज्ञों से न केवल शारीरिक पहलुओं, बल्कि डायबिटीज़ के साथ जीवन से निपटने के मनोवैज्ञानिक, सामाजिक और आध्यात्मिक पहलुओं का ध्यान रखने पर भी बहुत सलाह मिलेगी।

अधिकांश क्रॉनिक अवस्थाएँ और प्रगतिशील बीमारियाँ जैसे कि डायबिटीज़, न केवल मरीज़ के लिए, बल्कि परिवारों के लिए भी, मैनेज करने के लिए काफी चुनौतीपूर्ण साबित हो सकतीं हैं। डायबिटीज़ से ग्रस्त लोगों और परिवारों के लिए साल-दर-साल ज़बरदस्त भावनात्मक उथल-पुथल से गुज़रना काफी सामान्य है।

साइकोलॉजिस्ट (मनोचिकित्सक) मरिएला मेंडेल समझाती हैं कि डायबिटीज़ से डायग्नोज़ होना एक प्रमुख जीवन तनाव है और इसलिए, इसके लिए शोक से लेकर, इनकार, चिंता, अवसाद, शर्म और अपराधबोध तक की मनोवैज्ञानिक चुनौतियों से निपटने की आवश्यकता होती है। भावनाओं का यह रोलर कोस्ट (उथल-पुथल) करता हुआ सेट ब्लड ग्लूकोज़ के स्तर को मैनेज करने में किसी के कंट्रोल को प्रभावित कर सकता है। वही बात उनके परिवारों के लिए भी लागू होती है। वे भी चिंता, चिडचिडाहट और "करुणा की थकान" से गुज़रते हैं, जो एक ऐसा शब्द है जो डायबिटीज़ या अन्य क्रॉनिक अवस्थाओं के साथ जीने वाले लोगों के देखभालकर्ताओं और साथियों के बीच बर्नआउट (अक्रियाशीलताओं) के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

जोसलिन मेडिकल सेंटर, यूएसए के शोधकर्ताओं ने डायबिटीज़ के साथ जीने वाले लोगों में अवसाद के लक्षणों के लिए ग्लूटामेट (मस्तिष्क में एक न्यूरोट्रांसमीटर जो ग्लूकोज़ द्वारा बनता है) के उच्च स्तर के बीच एक लिंक की खोज की। इसलिए, यदि आप मरीज़ हैं या डायबिटीज़ के साथ जीने वाले किसी व्यक्ति के जीवनसाथी / परिवार हैं, तो यह सुझाव दिया जाता है कि आप अपनी अवस्था, उस दिन की अपनी भावना के बारे में बात करें और, यदि आवश्यक हो, तो चिकित्सा / मनोवैज्ञानिक सहायता या परामर्श का विकल्प चुनें। कई लोग भावनात्मक संतुलन खोजने के लिए ध्यान और आध्यात्मिकता की ओर भी मुड़ गए हैं जो उनकी अवस्था से निपटने के दौरान उन्हें शांत रहने में मदद करता है।

डायबिटीज़ पर अधिक पढ़ने के लिए, नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

डायबिटीज़ के प्रकार और लक्षण

डायबिटीज़ में आहार - क्या खाएं

डायबीटिज के लिए व्यायाम 

डायबिटीज़ भोजन मिथक और तथ्य

मिथक: डायबिटीज़ वाले लोगों को कभी मिठाइयाँ नहीं खानी चाहिए! 

सच्चाई: अच्छी खबर है दोस्तों! डायबिटीज़ वाले लोग कभी-कभी मिठाई खा सकते हैं। अमेरिकन डायबिटीज़ एसोसिएशन इस बात की वकालत करता है कि पकवानों और मिठाइयों का विशेष अवसरों और त्यौहारों पर लुफ़्त उठाना चाहिए और उपभोग करना चाहिए, परंतु तभी जब आपके ब्लड ग्लूकोज़ का स्तर कंट्रोल में है और आप नियमित रूप से प्रिस्क्राइब की गईं दवाइयाँ ले रहे हैं।

मिथक: डायबिटीज़ वाले लोग जूस नहीं पी सकते हैं।

सच्चाई: डायबिटीज़ वाले लोग ताजे जूसों का बहुत आनंद ले सकते हैं, लेकिन उन्हें बेशक डिब्बाबंद और पैक्ड जूसों से बचने की जरूरत है, इस वजह से कि उनमें अतिरिक्त रूप से शक्कर की सामग्री मिलाई गई होती है और उनके उच्च ग्लाइसीमिक मूल्य होते हैं।

मिथक: डायबिटीज़ वाले लोग फल नहीं खा सकते हैं।.

सच्चाई: डायबिटीज़ वाले लोगों को निश्चित रूप से फल खाने चाहिए, बस ग्लाइसीमिक इंडेक्स को ध्यान में रखते हुए। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ हेल्थ (राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान), यूएसए के अनुसार फल फाइबर और विटामिन सी "एस्कॉर्बिक एसिड" का बहुत अच्छा स्रोत होते हैं। सभी साइट्रस (खट्टे) फल विटामिन सी के समृद्ध स्रोत हैं जो आम बीमारियों से लड़ने के लिए हमारी इम्यून सिस्टम (प्रतिरक्षा प्रणाली) को बढ़ाते हैं।

मिथक: आलुओं को एक बड़ा ना कहें।

सच्चाई: डायबिटीज़ वाले लोग भोजन में आलू (बेक्ड, ग्रील्ड या स्टीम्ड) ले सकते हैं। आलू का आदर्श रूप से सेवन बिना स्टार्चयुक्त सब्ज़ियों और सलाद के साथ किया जाना चाहिए।

मिथक: डायबिटीज़ आहार एक बहुत ही सख्त आहार है।