1. होम
  2. >
  3. Infocus Detail
  4. >
  5. डायबिटीज़
  6. >
  7. Section
  8. >
  9. मुझे इंसुलिन की जरूरत है
Insulin 2331764 640 1

मुझे इंसुलिन की जरूरत है

Insulin 2331764 640

मेरा डॉक्टर इंसुलिन के लिए आग्रह कर रहा है, मुझे क्या पता होना चाहिए?

पैंक्रियाटिक सेल्स द्वारा स्वाभाविक रूप से हमारे शरीर में इंसुलिन बनता है और यह शुगर को ऊर्जा में परिवर्तित करने में शरीर की मदद करता है। जब हमारा शरीर अपर्याप्त या कोई इंसुलिन पैदा नहीं करता है, तो डॉक्टर इंसुलिन को अतिरिक्त रूप से लेने की सलाह देते हैं, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि शरीर कार्बोहाइड्रेट को शुगर में मेटाबोलाइज़ (चयापचय) करें, और शुगर लंबे समय तक ब्लड ग्लूकोज़ के रूप में जमा नहीं हो।

इंसुलिन लेने के साथ कई मिथक जुड़े हुए हैं। डायबिटीज़ के साथ जीने वाले लोगों द्वारा सबसे अकसर पूछे जाने वाले प्रश्नों का पता लगाने के लिए नीचे पढ़ें।

मुझे मेरे डॉक्टर ने इंसुलिन लेने के लिए कहा है, क्या मेरा डायबिटीज़ बदतर हो रहा है?

इंसुलिन लेने का मतलब ज़रूरी नहीं कि आपका डायबिटीज़ बदतर हो रहा है। आपके उच्च ब्लड ग्लूकोज़ के स्तर को कंट्रोल करने के लिए आपका डॉक्टर इंसुलिन थेरेपी की सलाह दे सकता है। इंसुलिन थेरेपी नहीं लेने से आप आगे चलकर डायबिटीज़-संबंधित जटिलताओं का विकास कर सकते हैं, जैसे कि आंखों में ग्लूकोमा और किडनी या लीवर की ख़राबी, न्यूरोपैथी, पैरों की समस्याएँ, नर्व संबंधी समस्याएँ, आदि। टाइप 2 डायबिटीज़ वाले लोग दवा और इंसुलिन की संयुक्त थेरेपी का उपयोग करते हैं, ताकि उनके शुगर के स्तर को कंट्रोल में रखा जा सकें।

क्या इंसुलिन इंजेक्शन लगाने से दर्द होगा?

इंसुलिन को इंजेक्ट करना उतना दर्दनाक नहीं है जितना आप सोच सकते हैं। आपका डॉक्टर आपको निर्देशित करेगा कि इंसुलिन को सही तरीक़े से और दर्द रहित तरीक़े से कैसे इंजेक्ट किया जाए। इंसुलिन उन जगहों में दिया जाना चाहिए, जहाँ व्यक्ति में अधिक चर्बी और कम मसल मांसपेशियाँ होती हैं। कई नए प्रकार के सीरिंज हैं जो उपयोग करने के लिए और पतले एवं दर्द रहित होते हैं, इसलिए यह चिंता का कारण नहीं होना चाहिए।

एक बार मैंने इंसुलिन लेना शुरू किया, तो क्या मुझे इसे जीवन भर लेना पड़ेगा?

इस प्रश्न का उत्तर विभिन्न प्रकार के डायबिटीज़ के लिए अलग है। टाइप 1 डायबिटीज़ के साथ जीने वाले लोगों के लिए यह सच है; हालाँकि, टाइप 2 डायबिटीज़ वाले लोगों के लिए, अध्ययनों ने दिखाया हैं कि समय पर दवा लेने, शारीरिक व्यायाम और डाइट कंट्रोल से अवस्था उलट हो सकती है। कुछ लोग बस इसे हमेशा के लिए लेने के डर के कारण इंसुलिन लेना शुरू नहीं करना चाहते हैं। हालाँकि, अध्ययनों से पता चला है कि एक बार ब्लड ग्लूकोज़ के स्तर कंट्रोल में आने के बाद, मरीज़ ओरल मेडिकेशन (मौखिक औषधि-प्रयोग) में लौटने में सक्षम हुए हैं और अब उन्हें इंसुलिन पर निर्भर नहीं रहना पड़ता हैं।

इंसुलिन के साथ यात्रा करना थकाऊ है, क्या मैं अपने इंजेक्शनों से चूक सकता हूँ?

दुनिया भर के डॉक्टर दृढ़ता से सलाह देते हैं कि जो लोग इंसुलिन पर निर्भर हैं, उन्हें कोई इंजेक्शन नहीं चूकना चाहिए। यदि आप अपनी नियमित खुराक से चूकते हैं, तो यह डायबिटीज़ मैनेजमेंट में आपके द्वारा हासिल की गई जमीन को बाधित करेगा और आपको वापस शुरुआती अवस्था में ले जाएगा। आपके ब्लड शुगर के स्तर एकदम से बढ़ जाएंगे और शरीर में टॉक्सिन (विषाक्त पदार्थों) का एक असंतुलन पैदा करेंगे, जिससे आगे और जटिलताएँ हो सकतीं हैं।

अपने स्वयं का छोटा बैक-पैक बनाना एक अच्छा विचार है जहाँ आप अपने सीरिंज, इंसुलिन, कॉटन, गोज़ (महीन तार की जाली) और अस्ट्रिन्जंट (स्तंभक) काम में रख सकते हैं। इंसुलिन को ठंडी जगह पर रखना पड़ता है और इसलिए, कभी-कभी इसे रेफ्रिजरेट (प्रशीतित) करने की आवश्यकता होती है। यदि आप यात्रा कर रहे हैं, तो नए प्रकार के इंसुलिन पेन और कार्ट्रिज (कारतूस) के लिए अपने फार्मासिस्ट से जाँच लें, जिसे रेफ्रिजरेशन (प्रशीतन) की आवश्यकता नहीं हो।

इंसुलिन पर जीने वाले व्यक्ति के परिवार / दोस्त के रूप में मैं क्या कर सकता हूँ?

यदि आपके साथी को इंसुलिन डिपेंडेंट डायबिटीज़ है, तो हम समझते हैं कि आपके पास मानसिक और शारीरिक रूप से थकाने वाले तनावों का अपना सेट होगा। आपको अपने साथी का विभिन्न तरीकों से समर्थन करने में सक्षम होना पड़ेगा, जैसे कि एक स्वस्थ डाइट और व्यायाम रूटीन की स्थापना और रखरखाव करना, चिंताजनक घावों के लिए अपने साथी की जाँच करना, इंसुलिन शॉट को सही और दर्दरहित तरीक़े से देना सीखना, साथ ही नियमित रूप से ब्लड ग्लूकोज़ के स्तर की जाँच करना।

काफी कुछ चीजें हैं जो आप अपने और अपने साथी की मदद करने के लिए कर सकते हैं। सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण, इस अवस्था के साथ जीने में अपने साथी का समर्थन करने के लिए, आपको मानसिक और शारीरिक दोनों तरह से अपना ध्यान रखने की ज़रूरत है। अपने लिए एक हेल्थ प्लान (स्वास्थ्य योजना) स्थापित करें, जो आपको डायबिटीज़ के साथ-साथ होने वाले तनावों से निपटने के लिए अच्छे शेप में रखेगा। यह और भी बेहतर है यदि आप एक साथ व्यायाम कर सकते हैं। अपने शरीर पर तनाव के प्रभाव को कम करने के लिए ध्यान और योग करना भी एक बहुत अच्छा तरीक़ा है।

You do not need to give up your life and pleasures in order to support your partner. For example, develop a balanced diet plan that takes care of your partner’s nutritional requirements, but do not forget to add your favourite dish to the equation!

Consult with your doctor to plan an evening out, away from the regular routine. Understand and follow the doctor’s instructions when it comes to dos and don’ts for eating and drinking on your evening out, and you will be fine.

Make sure to have a backup for yourself. As you support your partner in living with Diabetes, you need not give up your interests. Have family/friends provide you with backup whenever you need to step away for some time. This also takes care of the condition known as “compassion fatigue” in caregivers.

इस अवस्था के साथ जीने वाले अन्य लोगों का समर्थन होना भी एक अच्छी बात है, ख़ासकर जब कभी आप खुद कुछ दिनों के लिए ठीक महसूस नहीं कर रहे हो।

मधुमेह पर अधिक पढ़ने के लिए , नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

डायबिटीज़