1. होम
  2. >
  3. Infocus Detail
  4. >
  5. डायबिटीज़
  6. >
  7. Section
  8. >
  9. Self measures to prevent...
Young Woman 2699780 640

डायबिटीज़ से बचने के स्व-उपाय

Young Woman 2699780 640

अतिरिक्त वजन टाइप 2 डायबिटीज़ का एकमात्र सबसे महत्वपूर्ण कारण है। अधिक वजन होने से टाइप 2 डायबिटीज़ के विकसित होने की संभावना सात गुना बढ़ जाती है। मोटे होने से आपको स्वस्थ वजन वाले किसी व्यक्ति की तुलना में डायबिटीज़ विकसित होने की संभावना 20 से 40 गुना अधिक होती है।

निष्क्रियता टाइप 2 डायबिटीज़ को बढ़ावा देती है। अपनी मांसपेशियों को कई बार काम कराना और उन्हें कड़ी मेहनत कराना इंसुलिन का उपयोग करने और ग्लूकोज़ को अब्ज़ॉर्ब (अवशोषित) करने की उनकी क्षमता को सुधारता है। यह आपके इंसुलिन बनाने वाले सेल्स पर कम तनाव डालता है।

इस बात के पुख्ता प्रमाण हैं कि होल ग्रेन (साबुत अनाज) से भरपूर आहार डायबिटीज़ से बचाव करते हैं, जबकि रिफाइंड (परिष्कृत) कार्बोहाइड्रेट से भरपूर आहार डायबिटीज़ के खतरे को बढ़ाते हैं।

रिफाइंड (परिष्कृत) अनाज की तरह, शुगर वाले बेवरेज (पेय) में ग्लाइसीमिक लोड अधिक होता है, और इस शुगर वाले पदार्थ को अधिक पीने से डायबिटीज़ का खतरा बढ़ जाता है।

आपके आहार में फैट के प्रकार भी डायबिटीज़ के विकास को प्रभावित कर सकते हैं। तरल वनस्पति तेलों, नट्स और बीजों में पाए जाने वाले पॉलीअनसेचुरेटेड फैट (पॉली-असंतृप्त फैट) जैसे अच्छे फैट टाइप 2 डायबिटीज़ को दूर करने में मदद कर सकते हैं।

मधुमेह पर अधिक पढ़ने के लिए , नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

डायबिटीज़ के प्रकार और लक्षण

डायबिटीज़ में आहार - क्या खाएं

डायबीटिज के लिए व्यायाम