1. होम
  2. >
  3. Infocus Detail
  4. >
  5. first-aid
  6. >
  7. section
  8. >
  9. First Aid for Dog...
Pexels Photo 551628 1

कुत्ते के काटने पर प्राथमिक उपचार

Pexels Photo 551628 1

व्यक्ति को कुत्ते के काटने से रेबीज रोग ओर टेटनस संक्रमण हो सकता है , कुत्ते के काटने पर रेबीज रोग के खतरे को कम करने के लिए तुरंत डॉक्टर से इलाज कराये।

व्यक्ति में साइनसाइटिस के लक्षण

कुत्ते के काटने पर रोगी में कुछ लक्षण दिखाई देते जैसे घाव में संक्रमण, घाव में लालिमा, घाव का सूजन जाना , दर्द का बढ़ाना और बेचैनी आदि । व्यक्ति को डॉक्टर को इन लक्षणों को तुरंत दिखाना चाहिए।

भारत में हर साल रेबीज के कारण होने वाली 45,000 केसो में से 20,000 की मृत्यु होती है। रेबीज वायरस 95 प्रतिशत से अधिक कुत्ते के काटने से फैलता है।

कुत्ते के काटने पर लिए जाने वाले प्राथमिक उपचार :

Always remember it’s very important to see a doctor, especially if an unfamiliar dog bit you, the bite is deep, you can’t stop the bleeding, or there are any signs of infection (redness, swelling, warmth, pus).

घर पर किये जाने वाले उपचार:

  • घाव से किसी भी प्रकार के रक्तस्राव को रोकने के लिए काटने वाले स्थान पर एक साफ तौलिया रखें।
  • घायल स्थान को ऊंचा रखने की कोशिश करें।
  • कटे स्थान को साबुन व पानी से साथ सावधानी से धोये।
  • घाव के लिए एक सुखी पट्टी लागू करें।
  • संक्रमण को रोकने के लिए हर दिन चोट के लिए एंटीबायोटिक दवाई लगाए।

When you go to a doctor to treat the dog bite, be prepared for answering these questions:-

  • Do you know the owner of the dog?
  • If so, is the dog up to date on all vaccinations, including rabies?
  • Did the bite occur because the dog was provoked, or was the dog unprovoked?
  • What health conditions do you have? People with diabetes, liver disease, illnesses that suppress the immune system, and other health conditions may be at greater risk for a more severe infection.

साइनसाइटिस के निवारणएड्स से पीड़ित व्यक्तियों के लिए सामान्य इलाज :

कुत्ते के काटने से बचने के कुछ विशेष बातों का ध्यान रखे ।

  • परिवार में पालतू जानवर को रखने लिए एक कुत्ते का चयन करते समय, एक अच्छे स्वभाव वाला कुत्ता चुनें।
  • Stay away from any dogs you don’t know.
  • Never leave young children alone with a dog — especially an unfamiliar one.
  • Don’t try to play with any dog that is eating or feeding her puppies.
  • जब भी आप कुत्ते से संपर्क करें, तो धीरे-धीरे करें, और कुत्ते को अपने पास आने का मौका दें।
  • If a dog becomes aggressive, do not run away or scream. Stay calm, move slowly, and don’t make eye contact with the dog.

फर्स्ट एड पर अधिक पढ़ने के लिए, नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

प्राथमिक चिकित्सा

सामग्री सौजन्य: पोर्टिया