1. होम
  2. >
  3. Infocus Detail
  4. >
  5. new-born
  6. >
  7. section
  8. >
  9. चिकन पॉक्स से निपटना
Bitter Melon 787674 640

चिकन पॉक्स से निपटना

Bitter Melon 787674 640

यह एक इन्फेक्शस (संक्रामक) रोग है, जिसके कारण हल्का बुखार होता है और खुजली वाली सूजी हुईं पिंपल्स (फुंसियों) का रैश होता है, जो फफोले में बदल जाती हैं और फिर ढीली पपड़ियाँ बन जाती हैं। यह हर्पीज़ ज़ॉस्टर (भैंसिया दाद) वायरस के कारण होता है और मुख्य रूप से बच्चों को प्रभावित करता है।

रैश दिखने से पहले, निम्न चीज़ें होंगी:

  • अस्वस्थ होने की एक सामान्य भावना (अस्वस्थता)।
  • बुखार, जो आमतौर पर बच्चों की तुलना में वयस्कों में बदतर होता है।
  • मांसपेशियों में दर्द।
  • भूख में कमी
  • मतली (जी मिचलाना)।

रैश दिखाई देने के बाद, निम्न चीज़ें होंगी:

लाल चकत्ते पड़ना।: तीव्रता कुछ धब्बों से लेकर पूरे शरीर को कवर करनेवाले रैश तक भिन्न-भिन्न हो सकती है।

स्पॉट (धब्बे): धब्बे गुच्छों में विकसित होते हैं और आम तौर पर चेहरे, अंगों, छाती और पेट पर दिखाई देते हैं। वे छोटे, लाल होते हैं और खुजली करते हैं।

फफोले: फफोले धब्बों के ऊपर विकसित हो सकते हैं। इनसे बहुत खुजली हो सकती है।

क्लाउडिंग: लगभग 48 घंटों के भीतर, फफोले मैले दिखने लग जाते हैं और सूखने लग जाते हैं। एक क्रस्ट (पपड़ी) आ जाता है।

ठीक होना: लगभग 10 दिनों के भीतर, क्रस्ट अपने आप गिर जाता है।

During the whole cycle, new waves of spots can appear – in such cases, the patient might have different clusters of spots at varying stages of itchiness, dryness, and crustiness.

साइनसाइटिस से पीड़ित व्यक्ति का इलाज कैसे कैरे ?:

चिकनपॉक्स आम तौर पर एक या दो सप्ताह के भीतर उपचार के बिना हल हो जाता है, लेकिन एक टीका इसे प्रिवेंट कर सकता है।

एक जागरूकता पैदा करें कि इन्फेक्शन (संक्रमण) को दूसरे लोगों तक फैलने से कैसे रोका जाए।

दर्द या बुखार: कभी-कभी डॉ मे बुखार और दर्द के इलाज के लिए दवा लेने की सलाह देते हैं।

डिहाइड्रेशन (निर्जलीकरण) से बचना: डिहाइड्रेशन को प्रिवेंट करने के लिए, पर्याप्त मात्रा में फ्लूइड (तरल पदार्थ) पीना, विशेषकर पानी पीना, महत्वपूर्ण है। कुछ डॉक्टर उन बच्चों के लिए शुगर-फ्री (चीनी-मुक्त) पॉप्सिकल रिकमेन्ड करते हैं जो पर्याप्त नहीं पीते हैं।

वैक्सीनेशन (टीकाकरण):: For children, 2 doses of the varicella vaccine are given, one at 12 to 15 months and one at age 4 to 6 years. These are 90 percent effective at preventing chickenpox.

बेबी केयर पर अधिक पढ़ने के लिए, नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें,

New Born