Currently set to Index
Currently set to Follow

शानदार उपकरण – रॉकर / स्ट्रोली / प्रैम

मुख्य अंतर: बेबी प्रैम और स्ट्रोलर, पहिएदार उपकरण हैं जिनका उपयोग बच्चों को कैरी करने के लिए किया जाता है। एक बेबी प्रैम एक क्रैडल (पालने) की तरह होता है जिसमें शिशु लेट सकते हैं, जबकि एक स्ट्रोलर एक कुर्सी की तरह होता है जिसमें शिशु सीधे बैठ सकते हैं।

रॉकर:

एक बाउंसर जन्म से लेकर 6 महीने तक के लिए उपयुक्त एक सीट है जो रॉक नहीं करता है (अर्थात् झूलता नहीं है), लेकिन वह थोड़ा फ्लेक्सिबल होता है ताकि यह थोड़ा हिल सके, जब आप इसे धक्का दें या जब आपके शिशु के बड़े/बड़ी होने पर वह लात मारे। एक बाउंसर में आमतौर पर खिलौने और रोशनी के साथ एक बार होता है, और कुछ में आपके शिशु को शांत करने में मदद करने के लिए संगीत और वाइब्रेटिंग (कंपन) विकल्प होते हैं।

बाइंग टिप्स (खरीददारी की युक्तियाँ):

  • आधुनिक ग्लाइडर अधिक जगह लेते हैं, लेकिन वे आरामदायक कुशन के साथ आते हैं। एक ऑटोमन जोड़ें ताकि आपके पास थके हुए पैरों को रेस्ट करने के लिए एक जगह हो।
  • जब आप खरीदारी करतीं हैं, तो प्रत्येक रॉकर या ग्लाइडर को एक टेस्ट राइड (परीक्षण सवारी) दें। वे सुचारु रूप से और चुपचाप चलने चाहिए। आप अपने सोते हुए शिशु को आवाज़ों और दरारों की जुगलबंदी से नहीं जगाना चाहेंगी।
  • सीट आपके और आपके बढ़ते बच्चे को आराम से फिट करने के लिए काफ़ी बड़ी होनी चाहिए।
  • यह सुनिश्चित करें कि हेडरेस्ट पर्याप्त उच्च है ताकि आप इसके खिलाफ पीछे झुक सकें। आप देर रात के थका देनेवाली फीडिंग के दौरान उस सुविधा की सराहना करेंगे।
  • एक आसानी से धोने वाला कपड़ा चुनें। आप इसे शिशु के थूकने और गिराने के बाद साफ़ करना चाहेंगी।
  • ऐसा रंग चुनें जो शिशु को शांत करने में मदद करें। नीले या हरे रंग अच्छे विकल्प हैं।

 

स्ट्रोली :

एक शिशु को घुमाने के लिए एक वाहन जिसमें चार पहियों पर एक फ्रेम द्वारा समर्थित एक छोटा बिस्तर शामिल है।

बाइंग टिप्स (खरीददारी की युक्तियाँ):

  • शिशु को सुरक्षित रखने के लिए, ऐसे एक टी-आकार के बकल की तलाश करें जो आपके शिशु की कमर के चारों ओर जा सके और पैरों के बीच स्ट्रैप हो सके।
  • स्ट्रोलर के पिछले पहियों पर ब्रेक होने चाहिए और सामने के पहिये लॉक वाले होने चाहिए।
  • दो जनों के लिए कोई स्ट्रोलर खरीदते समय, टैंडम मॉडल (अग्रानुक्रम मॉडल) (जहाँ एक शिशु दूसरे के सामने बैठता है) साइड-बाय-साइड की तुलना में हिलाने-डुलाने में आसान होते हैं। 
  • स्ट्रोलर सीट को आपके नवजात के लिए पूरी तरह से पीछे जानी चाहिए, और जैसे-जैसे आपका शिशु बढ़ता है यह एक सीट के तौर पर वापस एडजस्ट हो जानी चाहिए।

 प्रैम:

एक प्रैम को नवजात शिशुओं और छोटी उम्र वाले शिशुओं को कैरी करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, आमतौर पर जब वे लेटे होते हैं। यह मज़बूत होता है और आमतौर पर फ्लैट फोल्ड नहीं किया जा सकता है। एक स्ट्रोलर हल्के वज़न वाला और कोलैप्सिबल (बंधनेवाला) होता है, जो बड़ी उम्र वाले शिशुओं के लिए आदर्श है। एक बग्गी (छोटी गाड़ी) एक पुशचेयर या एक स्ट्रोलर हो सकती है, जो इस पर निर्भर करता है कि यह आप किससे पूछ रहें हैं!

बाइंग टिप्स (खरीददारी की युक्तियाँ):

  • यदि आपको हमेशा कहीं जाना होता हैं, तो हल्के वज़न वाला एक छाते वाला स्ट्रोलर खरीदें। बस यह सुनिश्चित करें कि यह पूरी तरह से पीछे जाता हो।
  • अपने सभी बेबी गियर (शिशु संबंधी वस्तुओं) को रखने के लिए जगह चाहिए? एक फुल-साइज़ वाला स्ट्रोलर आपको अधिक स्टोरेज रूम (भंडारण कक्ष) देगा।
  • एक वाइड व्हील बेस (व्यापक पहिया आधार) के साथ, यह सॉलिड (ठोस) होना चाहिए। जब आप हैंडल पर हल्के से धक्का देते हैं, तो वह पीछे की तरफ नहीं सरकना चाहिए।
  • यह सुनिश्चित करें कि आप स्ट्रोलर को एक हाथ से आसानी से खोल सकते हैं। आप अपने दूसरे हाथ में बच्चे को पकड़े हुए उसके साथ कुश्ती नहीं करना चाहेंगी।
  • शिशु को सुरक्षित रखने के लिए, ऐसे एक टी-आकार के बकल की तलाश करें जो आपके शिशु की कमर के चारों ओर जा सके और पैरों के बीच स्ट्रैप हो सके।
  • दो जनों के लिए कोई स्ट्रोलर खरीदते समय, टैंडम मॉडल (अग्रानुक्रम मॉडल) (जहाँ एक शिशु दूसरे के सामने बैठता है) साइड-बाय-साइड की तुलना में हिलाने-डुलाने में आसान होते हैं।

बेबी केयर पर अधिक पढ़ने के लिए, नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें,

New Born