Currently set to Index
Currently set to Follow

लेबर (प्रसव) और सामान्य डिलीवरी (प्रसूति)

आप लेबर (प्रसव) से निपटने के लिए बेहतर तैयार होंगी, यदि आप जानतीं हो कि प्रत्येक स्टेज पर आपके शरीर के साथ वास्तव में क्या होगा। यह हमेशा बेहतर होता है यदि आप लेबर से निपटने में मदद करने के लिए पहले से विश्राम और श्वास तकनीकों का अभ्यास कर सकें।

प्रसव के लक्षण

  • वॉटर ब्रेक हो जाता है:

शिशु को घेरने वाला फ्लूइड (तरल पदार्थ) का थैला ब्रेक हो जाता है (टूट जाता है)। यह पानी की एक अचानक सी बाढ़ हो सकती है या फ्लूइड का एक हल्का सा बहाव हो सकता है अगर शिशु का सिर एंगेज (संलग्न) है।

क्या किया जाए?

आपको तुरंत अस्पताल जाने की आवश्यकता है भले ही कॉन्ट्रैक्शन (संकुचन) शुरू नहीं हुए हो क्योंकि नहीं तो आपको कोई इन्फेक्शन (संक्रमण) हो सकता है। तुरंत अस्पताल को कॉल करें और इस बीच, प्रवाह को अब्ज़ॉर्ब (अवशोषित) करने के लिए एक सैनिटरी नैपकिन पहनें।

  • वजाइनल ब्लीडिंग (योनि से खून बहना):

गर्भ की ग्रीवा को (अर्थात् सर्विक्स को) ब्लॉक (अवरुद्ध) करने वाला रक्त से सना हुआ मोटा म्यूकस (बलगम) योनि में से निकलता है। यह लेबर के शुरुआती चरणों के दौरान हो सकता है।

क्या किया जाए?

लेबर शुरू होने से कुछ दिन पहले यह दृश्य देखने को मिल सकता है। आप तब तक प्रतीक्षा करें जब तक वॉटर ब्रेक हो या आप पीठ या पेट दर्द का अनुभव करें।

  • कॉन्ट्रैक्शन (संकुचन):

यह एक हल्के पीठ दर्द के रूप में या आपकी जांघों के नीचे तीव्र दर्द के रूप में शुरू हो सकता है। समय बीतने के साथ, आपको पेट के कॉन्ट्रैक्शन अनुभव हो सकते हैं जो पीरियड (मासिक धर्म) के बुरे दर्द की तरह लग सकते हैं।

क्या किया जाए?

जब आप कॉन्ट्रैक्शन महसूस करने लगते हैं, तो देखें कि वे कितने नियमित हैं। यदि कॉन्ट्रैक्शन की फ्रीक्वेंसी (आवृत्ति) कम है, जैसे वे हर 5 मिनट या उससे कम समय में आ रहे हैं और इतने भी दर्दनाक नहीं हैं, तो आपको तुरंत अस्पताल जाने की आवश्यकता नहीं है। शुरुआती लेबर सामान्य रूप से 12 से 14 घंटे तक टिकता है और इसका कुछ समय अपने घर के आराम में बिताना बेहतर होता है। यदि आपका वॉटर ब्रेक नहीं हुआ है, तो एक गर्म स्नान करें। आसपास थोड़ा घूमें और जैसा और जब मन करें आराम करें।

  • मिथ्या शुरुआत:

प्रेगनेंसी में ब्रेक्सटन और हिक्स कॉन्ट्रैक्शन बहुत जल्दी शुरू हो जाते हैं क्योंकि गर्भ पूरे समय कॉन्ट्रैक्ट (संकुचित) होता रहता है। अंतिम सप्ताहों में, ये वास्तव में काफ़ी प्रबल हो सकते हैं जिससे आपको लगता है कि आप लेबर में हैं। लेबर में, कॉन्ट्रैक्शन बहुत नियमित होते हैं और गुज़रते समय के साथ और मजबूत हो जाते हैं तथा और अधिक बार-बार आने लग जाते हैं।

पहला स्टेज (चरण)

इस स्टेज में, वूम्ब (गर्भ) की मांसपेशियां सर्विक्स (गर्भाशय ग्रीवा) को खोलने के लिए कॉन्ट्रैक्ट (संकुचित) होती हैं ताकि शिशु को जन्म के समय पास करने दिया जा सके। पहले शिशु के लिए इसमें लगभग 10 से 12 घंटे लगते हैं।

खुद की मदद करने के तरीक़े

  • कॉन्ट्रैक्शन (संकुचनों) के बीच चलते रहें।
  • कॉन्ट्रैक्शन के दौरान एक आरामदायक मुद्रा अपनाएं।
  • जितना संभव हो उतनी सीधी रहें।
  • अपने मन को शांत करने के लिए अपनी सांस पर ध्यान केंद्रित करें।
  • दर्द को रिलीज़ करने के लिए गाएं या कराहें और आहें भरें।
  • एक समय में एक कॉन्ट्रैक्शन लें और आने वाले दूसरों के बारे में न सोचें।
  • पानी को अकसर पास करें ।

ट्रांज़ीशन (परिवर्तन-काल)

सबसे कठिन समय होता है पहले स्टेज का अंत, जब कॉन्ट्रैक्शन सबसे ज़्यादा प्रबल होते हैं। वे लगभग एक मिनट तक रहते हैं और एक मिनट की देरी पर होते हैं; यह स्टेज लगभग आधे घंटे तक रह सकता है।

दूसरा स्टेज (चरण)

एक बार जब सर्विक्स (गर्भाशय ग्रीवा) डाईलेट हो गया (अर्थात् फैल गया) और आप धक्का दे सकतीं हैं, तब दूसरा स्टेज शुरू हो जाता है। पुश करना (अर्थात् धक्का देना) मेहनत का काम है लेकिन प्रत्येक प्रयास आपके शिशु के जन्म को क़रीब लाता है। यह स्टेज आमतौर पर पहले बच्चे के लिए लगभग एक घंटे तक रहता है।

तीसरा स्टेज (चरण)

जन्म के दौरान या उसके तुरंत बाद, आपको अपनी जांघ में एक सिंटोमेट्रिन इंजेक्शन दिया जाएगा जो गर्भ को मज़बूती से कॉन्ट्रैक्ट (संकुचित) कराता है और प्लेसेंटा (बीजांडासन) को तुरंत ही डिलीवर करता है।

जन्म के बाद

आपको साफ किया जाएगा और ज़रूरत पड़ने पर स्टिच किया जाएगा। शिशु का वज़न किया जाएगा और उसे मापा जाएगा। अम्बिलिकल कॉर्ड (गर्भ नाल) को पकड़कर काट दिया जाएगा।

जन्म लेबर का क्लाइमेक्स (चरमावस्था) होता है और आपका शिशु आखिरकार आ चुका है। आप अब छू सकतीं हैं और कडल कर सकतीं है और नवजात के लिए एक सुरक्षात्मक प्रेरणा के साथ-साथ राहत की एक गहरी भावना महसूस कर सकतीं हैं।

गर्भावस्था पर अधिक पढ़ने के लिए, नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

गर्भावस्था