Pexels Photo 754953

गर्भवती बनना

Pexels Photo 754953

Starting a family is a wonderful experience and certain precautions can make the journey more enjoyable.  It is important to follow a healthy lifestyle even while planning and trying to conceive as the first three months are crucial for a baby’s growth and you may come to know of the pregnancy only when a period is missed.

प्रेगनेंसी के पहले लक्षण:

  • बढ़े हुए और कोमल स्तन।
  • मुंह में कोई मैटेलिक (धातु जैसा) स्वाद।
  • थकान महसूस होना और / या अत्यधिक भावुक महसूस होना।  
  • चक्कर आना, मतली और / या उलटी।
  • वजाइनल डिस्चार्ज (योनि स्राव) का बढ़ना।
  • असामान्य भोजन के लिए क्रेविंग और / या तेज़ गंध और धूम्रपान जैसी कुछ चीज़ों के प्रति घृणा।
  • लगातार पेशाब आना

अच्छी खबर को कन्फर्म करना

एक बार कुछ संकेत जो प्रेगनेंसी को इंगित करते हैं, देखे जाते हैं, उसकी पुष्टि निम्न के माध्यम से करने की सलाह दी जाती है:

  • यूरिन टेस्ट (मूत्र परीक्षण): यूरिन सैंपल का लैब में परीक्षण किया जा सकता है, क्योंकि प्रेगनेंसी में यूरिन में एक हार्मोन दिखाई देता है।
  • होम प्रेगनेंसी किट: आप किसी औषधालय के यहाँ से एक होम प्रेगनेंसी किट ख़रीद सकतीं हैं। हमेशा दिन के पहले यूरिन सैंपल का उपयोग करें और पैकेज पर दिए गए निर्देशों का पालन करें। किट में एक केमिकल सलूशन (रासायनिक घोल) होता है जिसके माध्यम से जब यूरिन पास होता है, प्रेग्नेंट होने पर ही उसका रंग बदलता है। हालांकि वे काफ़ी सटीक होते हैं, एक लैब डायग्नोसिस (प्रयोगशाला निदान) करना अधिक सटीक होता है।
  • फिज़िकल एग्ज़ामिनेशन (शारीरिक परीक्षण): दो पीरियड्स (मासिक धर्म) मिस होने के बाद, डॉक्टर प्रेगनेंसी की पुष्टि करने के लिए एक वजाइनल एग्ज़ामिनेशन (योनि परीक्षण) कर सकता है।

ईडीडी (एस्टीमेटेड डिलीवरी डेट [अनुमानित प्रसव तिथि]) को कैलकुलेट करना

डिलीवरी की ड्यू डेट (नियत तारीख़) के बारे सोचना शुरू करना सामान्य है। ध्यान रखें कि ये कैलकुलेशन केवल अनुमान हैं और औसत पर आधारित हैं।

ईडीडी = एलएमपी + 280 दिन (एलएमपी = लास्ट पीरियड [आख़िरी मासिक धर्म])

एक सामान्य प्रेगनेंसी 38 से 42 सप्ताह के बीच रह सकती है, हालांकि औसतन यह 40 सप्ताह तक रहती है। ओव्यूलेशन स्टेज (अण्डोत्सर्ग चरण) के दौरान कन्सीव करने की संभावना सबसे अधिक होती है, जो अगले पीरियड के ड्यू होने के 14 दिन पहले होता है।

बचने की बातें

The baby’s organs are formed during the first trimester, so one has to be very careful during this time. If you want a healthy baby, you should definitely avoid the following:

  • प्रिस्क्रिप्शन (निर्धारण) के बिना दवा लेना: हम अकसर सामान्य शिकायतों के लिए दवाएँ ले लेते हैं, लेकिन इनमें से कई औषधियाँ शिशु को नुकसान पहुँचा सकतीं हैं। जब आपको पता चलें कि आप प्रेग्नेंट हैं, तो आपको तुरंत डॉक्टर को सूचित करना चाहिए, जो या तो दवा बदल सकता है या खुराक कम कर सकता है।
  • धूम्रपानI : Both active and passive smoking is very harmful for the growing baby. It deprives the foetus of oxygen and may lead to a number of complications like malformation, miscarriage, still birth, pre mature delivery, or low birth weight baby’s.  Avoid smoky places and give up smoking for the sake of a new life.
  • शराब: If the mother is a heavy drinker, the baby can be seriously harmed. There are no safe levels of drinking so it’s best to completely abstain from alcohol during this period. Talk to your gynecologist and take her advice regarding your concerns.
  • ख़राब हाइजीन (स्वच्छता): कच्चे मांस, मिट्टी के कणों और पालतू जानवरो के मल में में पैरासाइट (परजीवी) होते हैं जो शिशु को गंभीर नुकसान पहुँचा सकते हैं। अपने हाथों को अच्छी तरह से धोएं, विशेषकर कुछ भी खाने से पहले और बाहर खाना खाते समय स्वच्छता के बारे में बहुत सावधान रहें।

गर्भावस्था पर अधिक पढ़ने के लिए, नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

गर्भावस्था

$("#ig").attr('disabled','disabled');
$("#ig1").attr('disabled','disabled');