1. होम
  2. >
  3. Infocus Detail
  4. >
  5. गर्भावस्था
  6. >
  7. Section
  8. >
  9. प्रेगनेंसी और न्यूट्रीशन टिप्स
Salad 2756467 640

प्रेगनेंसी और न्यूट्रीशन टिप्स

Salad 2756467 640

Pregnancy, the happy stage of a woman’s life can get complicated if proper care is not taken. It is important to care for both under nutrition and over nutrition as it is a physiological burden on a woman’s body.

इसे बेहतर ढंग से समझने के लिए, आइए हम पोषक तत्वों को डिवाइड (विभाजित) करें और प्रत्येक के महत्व को समझें कि हमें उनकी कितनी और क्यों आवश्यकता है।

जिन विभिन्न पोषक तत्वों का ध्यान रखना आवश्यक है, उनमें शामिल हैं:

  1. ऊर्जा: मैटरनल टिश्यू (मातृ ऊतक) के विकास के लिए और यूटरस (गर्भाशय) के अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए, 300 किलो कैलोरी के एक बढ़े हुए कैलोरी इन्टेक (सेवन) की आवश्यकता होती है ताकि शिशु की बढ़ती ज़रूरतों को पूरा किया जा सकें। कैलोरी आवश्यकता में इस बढ़त की भरपाई अतिरिक्त दो गिलास दूध / पनीर / छाछ द्वारा की जा सकती है।
  2. प्रोटीन: प्रोटीन की नियमित आवश्यकता शरीर के वज़न के हिसाब से 1 ग्राम प्रति किलो होती है। प्रेगनेंसी के दौरान शिशु और माता के स्वस्थ विकास के लिए 15 ग्राम की बढ़ी हुई आवश्यकता होती है। समृद्ध स्रोत हैं अंडे, पनीर आदि।
  3. फोलिक एसिड: This is a very important nutrient during pregnancy. Deficiency of folic acid may lead  to neural tube defects in the baby . 600ug/d is the prescribed dose for the same. Rich sources are dark green  vegetables like broccoli, spinach and dried legumes.
  4. आयोडीन: : मेंटल रिटार्डेशन (मानसिक मंदता), स्टिल बर्थ (मृत जन्म) को प्रिवेंट करने और शिशु के मस्तिष्क के स्वस्थ विकास को बढ़ावा देने के लिए प्रति दिन 25 मिलीग्राम की बढ़ी हुई आवश्यकता होती है। आयोडीन के अच्छे स्रोत हैं समुद्री सब्ज़ियाँ, क्रैनबेरी, चीज़ आदि।
  5. आयरन: Iron is needed for the formation of blood for the baby’s growth, to replace blood loss during delivery and to provide for reserves for the baby as mother’s milk lacks sufficient iron. The additional iron need can be calculated to 700 mg extra. Some good sources of iron are red meat, pork, poultry ,and dark green leafy vegetables.
  6. विटामिन सी: विटामिन सी आयरन के अब्ज़ॉर्प्शन (अवशोषण) में मदद करता है और इसलिए आयरन के बढ़े हुए सेवन के साथ विटामिन सी के भी बढ़े हुए सेवन की आवश्यकता होती है। 10 मिलीग्राम अतिरिक्त सेवन करने की ज़रूरत है। विटामिन सी के अच्छे स्रोत हैं गहरे हरे रंग की पत्तेदार सब्ज़ियाँ, कीवी, संतरे, आंवला आदि।
  7. कैल्शियम: Calcium needs can be calculated to about 1300 mg per day for a woman less than 19 years of age and 1000 mg per day for an adult woman. The normal calcium needs for a woman is around 600 mg per day. Good source of calcium is dark green leafy vegetables, soy, milk products. To put it simply, one glass of milk/fermented milk product has approx 150 calories, and milk is a complete meal in itself. If the expecting mother just adds 2 glasses of milk or paneer or chaach made from 500 ml milk,  that is sufficient to meet the additional needs during pregnancy. The only thing lacking in milk is iron which can be taken care of separately.

प्रेगनेंसी के दौरान की गई सही देखभाल माँ और शिशु दोनों के लिए जटिलताओं को प्रिवेंट करने और अच्छे स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में एक लंबा रास्ता तय कर सकती है।  

गर्भावस्था पर अधिक पढ़ने के लिए, नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

गर्भावस्था